Essay On Bharat Desh Mahan

Essay On Bharat Desh Mahan-31
आणि कुणालाही भारतीय आहे म्हंटल्यावर इतका अभिमान का वाटतो?एका भारतात निसर्ग, प्राणी, मानव, त्यांच्या चालीरीती, दिसणे, भाषा ह्यामध्ये एव्हडी विविधता आहे की जर पूर्ण भारत फिरलो तर सगळे जग बघितल्यासारखे होईल.मेरा भारत देश एक बहुत महान देश है। इसे हिन्दुस्तान नाम से भी जाना जाता है। विश्व में लोग इसे इण्डिया नाम से जानते हैं। इस भारत भूमि पर ही राम और कृष्ण ने भी अवतार लिया। यही नहीं इसके अलावा कई महापुरुषों, ज्ञानियों, महान सन्यासियों ने भी इस भारत भूमि पर जन्म लेकर इसे महान बनाया है। मेरा भारत कई संस्कृतियों का केन्द्र है। यहाँ हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, इसाई, पारसी और अन्य समाज के लोग बहुत घुल-मिल कर रहते हैं। भारत के कोने-कोने में सुन्दरता बिखरी पड़ी है। कहीं पहाड़ तो कहीं मैदान, कहीं जंगल तो कहीं मरुस्थल, कहीं नदियां तो कहीं समुद्र अपनी छटा बिखेरते हैं।भारत जिसे हिन्दुस्तान नाम से भी जाना जाता है, एक महान देश है। इस देश के नाम के पीछे कई मत हैं। उनमें से एक मत के अनुसार सिंधु घाटी सभ्यता की शुरूआत इस देश में होने के कारण इसका नाम हिन्दुस्तान पड़ा है। भारत भूमि को आर्यों की जन्मभूमि भी कहा जाता है। इसी कारण यहाँ आर्य समाज की भी स्थापना हुई।भारत देश एक कृषि प्रधान देश है। यहाँ का मुख्य व्यवसाय कृषि है। भारत की 80 प्रतिशत जनसंख्या गाँवों में रहती है। भारत देश की भौगोलिक परिस्थिति हर दिशा में भिन्न है। कहीं बर्फ से ढकी पर्वत चोटियाँ, कहीं समुद्र, कहीं मरुस्थल तो कहीं पठार ये सब भारत को कई भौगोलिक परिस्थितियों का मिला-जुला देश बनाते हैं।भारत देश पर 300 साल तक अंग्रेजों ने शासन किया लेकिन तब भी भारत देश ने अपनी संस्कृति को बरकरार रखा। हांलांकि कई जगह भारतीय संस्कृति में अंग्रेजी संस्कृति की भी झलक दिखाई देती है। अंग्रेजों से पहले मुगलों ने भी इस देश पर शासन किया है इसलिए कई अन्य देशों का भी भारतीय संस्कृति पर प्रभाव पड़ा है। लेकिन यह भारत देश की विशेषता है कि यहाँ विभिन्न धर्मों के लोग मिलजुल कर रहते हैं। इसलिए मेरा देश महान है।अनेकताओं में एकता का देश है भारत। देश का नाम भारत पड़ने पर वैसे तो कई मान्यतायें हैं लेकिन एक मुख्य मान्यता के अनुसार भारत देश का नाम राजा दुष्यंत के पुत्र भरत के नाम पर पड़ा था। भारत देश कोई नया देश नहीं है बल्कि यह इतना पुराना है कि हड़प्पा और मोहनजोदाड़ो जैसी प्राचीन सभ्यताओं की शुरूआत भी यहीं से हुई है। इसी कारण इसे विश्व की प्राचीनतम सभ्यताओं वाले देश में गिना जाता है। भारत एक ऐसा देश है जहाँ हर जाति एवं धर्म के लोग रहते हैं।यहाँ की संस्कृति एवं परम्पराएं पूरे विश्व में विख्यात हैं। विदेशी हमारी संस्कृति का बहुत सम्मान करते हैं और उसे देखने एवं समझने के लिए भारत आते हैं। भारत देश में सिर्फ देवी-देवताओं की ही नहीं अपितु पशु, पक्षी, पेड़-पौधों, नदियों, पर्वतों आदि की भी पूजा की जाती है यह माध्यम है यह समझाने का कि इन संसाधनों के बिना कोई भी देश प्रगति नहीं कर सकता एवं महान नहीं बन सकता।आज भारत की जनसंख्या 100 करोड़ से अधिक है। इस देश में 25 राज्य और 6 केन्द्र शासित क्षेत्र हैं। जहाँ कई धर्म और समाज के लोग भाईचारे के साथ रहते हैं। भारत देश की राष्ट्रीय भाषा हिन्दी है। यहाँ का राष्ट्रीय गीत वंदेमातरम् है। भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोर तथा राष्ट्रीय पशु बाघ है।यदि आप विभिन्न मौसमों और भोगोलिक परिस्थितियों का आनन्द उठाना चाहते हैं तो आपको विदेश की यात्रा से पहले अपने देश की यात्रा पर जरूर जाना चाहिये। वे सब यहाँ उपस्थित हैं चाहे वह पर्वतीय और बर्फीला स्थल हो दक्षिण की सुंदरता, मरू भूमि हो या घने जंगल, गंगा के मैदान हों या पठारी भाग, समुद्र हो या कलकल करती नदियाँ। क्या नहीं है यहाँ ?

आणि कुणालाही भारतीय आहे म्हंटल्यावर इतका अभिमान का वाटतो?एका भारतात निसर्ग, प्राणी, मानव, त्यांच्या चालीरीती, दिसणे, भाषा ह्यामध्ये एव्हडी विविधता आहे की जर पूर्ण भारत फिरलो तर सगळे जग बघितल्यासारखे होईल.मेरा भारत देश एक बहुत महान देश है। इसे हिन्दुस्तान नाम से भी जाना जाता है। विश्व में लोग इसे इण्डिया नाम से जानते हैं। इस भारत भूमि पर ही राम और कृष्ण ने भी अवतार लिया। यही नहीं इसके अलावा कई महापुरुषों, ज्ञानियों, महान सन्यासियों ने भी इस भारत भूमि पर जन्म लेकर इसे महान बनाया है। मेरा भारत कई संस्कृतियों का केन्द्र है। यहाँ हिन्दू, मुस्लिम, सिक्ख, इसाई, पारसी और अन्य समाज के लोग बहुत घुल-मिल कर रहते हैं। भारत के कोने-कोने में सुन्दरता बिखरी पड़ी है। कहीं पहाड़ तो कहीं मैदान, कहीं जंगल तो कहीं मरुस्थल, कहीं नदियां तो कहीं समुद्र अपनी छटा बिखेरते हैं।भारत जिसे हिन्दुस्तान नाम से भी जाना जाता है, एक महान देश है। इस देश के नाम के पीछे कई मत हैं। उनमें से एक मत के अनुसार सिंधु घाटी सभ्यता की शुरूआत इस देश में होने के कारण इसका नाम हिन्दुस्तान पड़ा है। भारत भूमि को आर्यों की जन्मभूमि भी कहा जाता है। इसी कारण यहाँ आर्य समाज की भी स्थापना हुई।भारत देश एक कृषि प्रधान देश है। यहाँ का मुख्य व्यवसाय कृषि है। भारत की 80 प्रतिशत जनसंख्या गाँवों में रहती है। भारत देश की भौगोलिक परिस्थिति हर दिशा में भिन्न है। कहीं बर्फ से ढकी पर्वत चोटियाँ, कहीं समुद्र, कहीं मरुस्थल तो कहीं पठार ये सब भारत को कई भौगोलिक परिस्थितियों का मिला-जुला देश बनाते हैं।भारत देश पर 300 साल तक अंग्रेजों ने शासन किया लेकिन तब भी भारत देश ने अपनी संस्कृति को बरकरार रखा। हांलांकि कई जगह भारतीय संस्कृति में अंग्रेजी संस्कृति की भी झलक दिखाई देती है। अंग्रेजों से पहले मुगलों ने भी इस देश पर शासन किया है इसलिए कई अन्य देशों का भी भारतीय संस्कृति पर प्रभाव पड़ा है। लेकिन यह भारत देश की विशेषता है कि यहाँ विभिन्न धर्मों के लोग मिलजुल कर रहते हैं। इसलिए मेरा देश महान है।अनेकताओं में एकता का देश है भारत। देश का नाम भारत पड़ने पर वैसे तो कई मान्यतायें हैं लेकिन एक मुख्य मान्यता के अनुसार भारत देश का नाम राजा दुष्यंत के पुत्र भरत के नाम पर पड़ा था। भारत देश कोई नया देश नहीं है बल्कि यह इतना पुराना है कि हड़प्पा और मोहनजोदाड़ो जैसी प्राचीन सभ्यताओं की शुरूआत भी यहीं से हुई है। इसी कारण इसे विश्व की प्राचीनतम सभ्यताओं वाले देश में गिना जाता है। भारत एक ऐसा देश है जहाँ हर जाति एवं धर्म के लोग रहते हैं।यहाँ की संस्कृति एवं परम्पराएं पूरे विश्व में विख्यात हैं। विदेशी हमारी संस्कृति का बहुत सम्मान करते हैं और उसे देखने एवं समझने के लिए भारत आते हैं। भारत देश में सिर्फ देवी-देवताओं की ही नहीं अपितु पशु, पक्षी, पेड़-पौधों, नदियों, पर्वतों आदि की भी पूजा की जाती है यह माध्यम है यह समझाने का कि इन संसाधनों के बिना कोई भी देश प्रगति नहीं कर सकता एवं महान नहीं बन सकता।आज भारत की जनसंख्या 100 करोड़ से अधिक है। इस देश में 25 राज्य और 6 केन्द्र शासित क्षेत्र हैं। जहाँ कई धर्म और समाज के लोग भाईचारे के साथ रहते हैं। भारत देश की राष्ट्रीय भाषा हिन्दी है। यहाँ का राष्ट्रीय गीत वंदेमातरम् है। भारत का राष्ट्रीय पक्षी मोर तथा राष्ट्रीय पशु बाघ है।यदि आप विभिन्न मौसमों और भोगोलिक परिस्थितियों का आनन्द उठाना चाहते हैं तो आपको विदेश की यात्रा से पहले अपने देश की यात्रा पर जरूर जाना चाहिये। वे सब यहाँ उपस्थित हैं चाहे वह पर्वतीय और बर्फीला स्थल हो दक्षिण की सुंदरता, मरू भूमि हो या घने जंगल, गंगा के मैदान हों या पठारी भाग, समुद्र हो या कलकल करती नदियाँ। क्या नहीं है यहाँ ?

Tags: About HomeworkPersonal Essay Vs Persuasive EssayEssay Writing CriteriaWhat Does The Thesis Of A Research Essay CommunicateYear 3 HomeworkLeague Of European Research Universities Paper What Are Universities For

ह्यात अतिशयोक्ती जरी असली तरी, हे खरे आहे की पूर्वी खरोखर भारतामध्ये अतिशय श्रीमंती होती.

इंग्लंड, फ्रांस, पोर्तुगाल, स्पेन अशा देशांतून लोक व्यापारासाठी येत होते आणि थैल्या भरून-भरून संपत्ति घेऊन जात होते.

या महान देश पवित्र धबधबा, पर्वत, झरे, झरे पाहू शकत नाही.

हिंदी मध्ये आमच्या देशांची राष्ट्रीय भाषा आहे.भारत दुनिया के सबसे बड़े देशो में सातवे नंबर पर आता है। भारत जैसा देश केवल नाम से बड़ा नहीं हुआ लेकिन इस देश की मिट्टी की महानता ही कुछ अलग है। इस पवित्र देश का हर कोई इन्सान देश की मिट्टी को केवल मिट्टी नहीं समझता बल्की इसे अपनी मा मानता है। यह एक ऐसा देश है जहा मारने वाले से बचाने वाले महान कहलाता है। यह ऐसे लोगों की मातृभूमि जहापर अगर कोई अपना कोई दुश्मन भी माफ़ी मांगे तो उसे माफ़ किया जाता है। यह ऐसा देश है जहापर देश के लिए जान देने वालो की कोई कमी नहीं। सबसे ज्यादा जनसंख्या में भारत दुसरे नंबर पर है। ऐसे महान देश को बहुत सारे नाम है जैसे की भारत, हिंदुस्तान और इंडिया। एक भारतीय होने पर मुझे गर्व है और मै इसे बहुत प्यार करता हु। भारत में अलग अलग परंपरा और संस्कृति होने के बावजूद भी सभी लोग एक साथ ख़ुशी से रहते है। मेरे देश की मातृभाषा हिंदी है लेकिन देश में विभिन्न धर्मो के लोग अलग अलग भाषा बोलते है। भारत एक महान और सुन्दर देश है जहापर समय समय पर महान लोगों ने जन्म लिया है और उन्होंने महान काम किए है। भारत के लोग दिल से बहुत अच्छे है और वो दुसरे देशो से आनेवाले लोगों का दिल से स्वागत करते है। इस देश की महान हड़प्पा और सिंधु संस्कृति 4000 साल से भी ज्यादा पुराणी है। ऋग्वेदिक काल की शुरुवात ईसापूर्व 1700 में हुई थी और उस वक्त भारत समृद्ध देश था और करीब ईसापूर्व 500 के दौरान एक विकसित देश बन गया था। सन 320 और 500 के बिच में जब गुप्त का साम्राज्य था तब भारत में बहुत समृद्धि थी। दिल्ली के सुलतानो ने देश में 1206 से 1526 के दौरान शासन किया था। देश में मुघलो का साम्राज्य 1526 से 1857 के बिच में था। बहादुर शाह 2 मुघलो का आखिरी बादशाह था। उसके बाद में देश में अंग्रेजो का शासन आया। भारत को 15 अगस्त 1947 को आजादी मिली। भारत एक महान नेता और वीर स्वतंत्रता सेनानियों का देश है। हमारे देश के नौजवान आतंकवादियो से हमें और हमारे देश को बचाने के लिए दिन रात बॉर्डर पर डटे रहते है। छत्रपती शिवाजी महाराज, डॉ बाबासाहेब आंबेडकर, महात्मा गाँधी, जवाहरलाल नेहरु जैसे महान व्यक्ति इस भारत देश में हुए है। डॉ जगदीश चन्द्र बोस, डॉ सी.

मेरा भारत महान पर निबन्ध | Essay on My Great Country: India in Hindi!

मेरा कृषि प्रधान भारत महान है । जहाँ पुरातन युग में यह आर्यावत नाम से पुकारा जाता था, वहाँ सोने की चिड़िया नाम से भी अपनी पहचान बनाए हुआ था । यहाँ के वासी आर्य कहलाते थे । महाप्रतापी राजा दुष्यंत के महावीर पुत्र भारत के नाम पर ही मेरे देश का नाम भारतवर्ष पड़ा है ।सम्पूर्ण विश्व को मेरे भारत पर गर्व रहा है । मेरे भारत का शासक चक्रवर्ती सम्राट कहलाता था । यहाँ की सभ्यता और संस्कृति विश्व की संस्कृतियों की जननी रही है। यह नागराज का हिमकिरीह धारण किए हुए है ।हिमालय से निकली शुद्ध-निर्मल जल की धाराओं से गंगा, यमुना, सतलज, कृष्णा, कावेरी, ब्रह्मपुत्र आदि अनेक नदियों का निर्माण हुआ है । इसकी पर्वत धरा असंख्य खनिज पदार्थो को अपनी गोदी में समेटेहुए है । कश्मीर, नैनीताल, शिमला, कुल्लू, मनाली और दार्जिलिंग आदि प्राकृतिक रमणीय स्थानों ने इसे स्वर्ग से अधिक सुंदर बना दिया है ।राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी जी ने अहिंसा और सत्याग्रह सरीखे अमोघ अस्त्रों के द्वारा उसे 15 अगस्त सन् 1947 ई.देश मोगलांचे साम्राज्य 1526 ते 1857 च्या दरम्यान तेथे होते बहादुर शाह 2 मुघलोचा शेवटचा शत्रूशाही येथे.त्यानंतरच्या काळात इंग्लंडच्या शासनाने आया भारत 15 ऑगस्ट 1 9 47 रोजी आझादी मिल भारत एक महान नेते आणि वीर मुक्तता सेनानीज देश आहे. होमी भाभा, डॉ नारलीकर जैसे महान वैज्ञानिक भी इसी देश में हुए हैं आमचे देश धर्मनिरपेक्ष आहे आमच्या देशांची जे संस्कृती आहे ते संपूर्ण जगामध्ये सर्वात वेगळे आहे आणि इथे प्रत्येक मनुष्याला आपली परंपरा आणि संस्कृती पालन करतो भारतातील सर्व लोक सनातन धर्माचे भारतीय दर्शनाचे पालन करतात आणि या कारणामुळेच आपल्या देशात विविधता निर्माण झाल्यानंतर एकता दृष्टी येते.प्रकृति की कोई ऐसी सौगात नहीं जो भारत देश में न हो। पूर्व समय में भारत को सोने की चिड़िया भी कहा जाता था और वह इसलिए कि यह देश विभिन्न प्राकृतिक संसाधनों से भरपूर था। इसी कारण कई अन्य देश भारत आकर यहाँ से अपना व्यापार करते थे और वह भी तब जब व्यवस्थित मार्ग उपलब्ध नहीं थे। वे अपने साथ अपने देश की वस्तुएं लाकर यहाँ बेचते तथा यहाँ की वस्तुएं अपने देश लेकर जाते थे। भारत भूमि में राम, कृष्ण, महावीर, बुद्ध जैसे कई महापुरूषों को जन्म दिया है। यह वीर योद्धाओं का देश है जिनमें महाराणा प्रताप, छत्रपति शिवाजी, भगतसिंह, सुभाष चन्द्र बोस, महात्मा गांधी, चाचा नेहरू, लाला लाजपत राय, लाल बहादुर शास्त्री और न जाने कितने वीर योद्धा शामिल हैं जिन्होंने अपनी जान पर दाव पर रखकर देश को गुलामी से मुक्त कराया और इसकी रक्षा की। भारत देश अपने साहित्य के लिए भी उतना ही प्रसिद्द है। इस भूमि पर न तुलसी, कबीर, रविन्द्र नाथ टैगोर, प्रेमचन्द, और न जाने कितने साहित्यकारों एवं कवियों ने जन्म लेकर इसे महान बनाने में अपना योगदान दिया है। Bharat desh mahan essay in marathi: आइये देखें 2008, 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014, 2015, 2016, 2017 के collection के Short essay on Mera Bharat Desh Mahan in hindi, maza desh marathi nibandh, Mera Bharat Desh Mahan Essay In Urdu, लेख एसेज, anuched, short paragraphs, pdf, Composition, Paragraph, Article हिंदी, some lines on Mera Bharat Desh Mahan in hindi, 10 lines on Mera Bharat Desh Mahan in hindi, short essay on Mera Bharat Mahan in hindi font, निबन्ध (Nibandh) Sayings, Slogans, Messages, SMS, Quotes, Whatsapp Status, Words Character तथा भाषा Hindi font, hindi language, English, Urdu, Tamil, Telugu, Punjabi, English, Haryanvi, Gujarati, Bengali, Marathi, Malayalam, Kannada, Nepali के Language Font के 3D Image, Pictures, Pics, HD Wallpaper, Greetings, Photos, Free Download कर सकते हैं| भारत जगातील सर्वात मोठ्या देशांमध्ये सातवे नंबर आहे भारतासारखे देश केवळ नावाने मोठे झाले परंतु या देशाची मातीची महानता केवळ काही भिन्न आहे.या पवित्र देशाने प्रत्येकास इन्सान देशांची माती केवळ माती समजली नाही तर ती तुमची मानकी आहे. हे असे लोक मातृभूमि जिथे होते पण कोणीतरी त्यांचे शत्रूच माफी मागते तर ती माफ केली जाते.त्यांच्या यशाचे कारण त्यांचा पराक्रम नसून भारतातली दुही कारणीभूत झाली.काश्मीर पासून कन्याकुमारी पर्यंत भारतात १८ पगड जाती जमातीचे, रंग रुपाचे आणि वेगवेगळ्या भाषा बोलणारे लोक आहेत. हेच काय तर आपला जगप्रसिद्ध कोहिनूर हिरा इंग्लंडच्या राणीच्या मुकुटात विराजमान झाला.अरब देशासारखे राजस्थानात वाळवंट आहे तर काझीरंगा ला अफ्रिकन सफारी सारखा पार्क आहे. खरोखर अभिमान वाटण्यासारखी, अनादि काळापासून आपल्या देशाची प्राचीन परंपरा आहे.जगातल्या सगळ्या जुन्या संस्कृतींपैकी आपली एक संस्कृती आहे.हमारा प्यारा देश भारत अत्यंत प्राचीन संस्कृति वाला महान एंव सुंदर देश है। यह ऐसा पावन एंव गौरमय देश है जहां देवता भी जन्म लेने को लालायित रहते हैं। हम अपने इस देश को स्वर्ग से भी बढक़र मानते हैं। इस देश की प्रशंसा कविवर प्रसाद ने इन शब्दों में की है-भारत देश संसार का शिरोमणि है जिसका इतिहास गौरवपूर्ण है। प्राकृतिक दृष्टि से सबसे अनूठा है। प्रकृति ने उसे अपने हाथों से संवारा है। छ: ऋतुंए बारी-बारी में आकर इसका श्रंगार करती हैं। तीन ओर समुद्र और हिमालय इसके मुकुट की भांति सुशोभित हैं। नदियां इसके प्रेम प्रवाह की भाङ्क्षति निरंतर बहकर इसे सिंचित करती हैं। इन्हें विशेषताओं के कारण जर्मन के विद्वान मैक्समूलर ने कहा है-मेरा देश भारत संस्कृति की क्रीड़ाभूमि है। इसी देश से ज्ञान की रश्मियां पूरे विश्व में फैली थी। यही वह देश है जिसने वेद, पुराण, उपनिष्ज्ञद और गीता का ज्ञान संसार को दिया। ज्ञान के कारण ही भारत को जगदगुरु कहा जाता है।हमारा देश भारत भौगोलिक विभिन्नताओं वाला देश है। यहां एक ओर हरियाली है तो दूसरी तरफ जंगल, एक ओर हिमखंडित पर्वत शिखर हैं तो दूसरी ओर तपते मरुस्थल। इसी देश में प्राकृतिक बनावट, जलवायु, खान-पान, वेशभूषा तथा संस्कृति की दृष्टि से इतनी विभिन्नताएं हैं। हमारा प्यारा देाश् भारत अनेकता में एकता का अपूर्व उदाहरण है। इसी देश में मंदिर और मस्जिद, गुरुद्वारे और गिरजाघरों के दर्शन होते हैं। अनेक भाषाएं ओर अनेक धर्म इसी धरती पर फल-फूल रहे हैं। सभी संस्कृतियों को फलने फूलने का अवसर दिया जाता है।भारत एक धर्म-निरपेक्ष राज्य है अर्थात यहां की सरकार जनता के धार्मिक मामालों में कोई दखल नहीं देती। यहां हिंदु-सिख, ईसाई और इस्लाम धर्म मानने वाले लोग रहते हैं। उन्हें अपनी उपासना पद्धति तथा सामाजिक व्यवस्था का अनुसरण करने की पूर्ण स्वतंत्रता है। भारत भूमि ने ही संसार को विश्व बंधुत्व तथा पंचशील का सिद्धांत दिया गया सत्य, अहिंसा, त्याग, दया आदि मानवीय मूल्यों की प्रेरणा दी।प्राकृतिक दृष्टि से यह देश सर्वाधिक सुंदर देश है, तो कभी धन-वैभव की दृष्टि से सोने की चिडिय़ा भी कहा जाता है। इसकी विपुल धन संपदा के कारण ही अनेक आक्रमणकारियों ने बार-बार लूटा तथा इसकी संस्कृतियों को नष्ट करने का प्रयास किया। परंतु इसकी संस्कृति नष्ट न हो पाई और अभी तक जीवित है जबकि संसार की अन्य प्राचीन संस्कृतियों का नामो-निशान तक नहीं है।हमारा देश अनेक महापुरुषों की भूमि है। इसी धरापर गौतम, महावीर, विवेकानंद जैसे महापुरुष हुए, इसी धरा पर महात्मा गांधी,जैसे पुरुष का आगमन हुआ। इसी भूमि पर तुलसी, कबीर, कालिदास, रवींद्रनाथ टैगोर सरीखे कवियों, पे्रमचंद सरीखे कहानीकार हुए। इसी भूमि पर महान रामानुजम, आर्यभट्ट जेसे गणितज्ञ एंव वैज्ञानिक अवतीर्ण हुए।सभी देशवासी भारत देश को उन्नति के शिखर पर पहुंचाने के लिए कंधे से कंधा मिलाकर कार्य कर रहे हैं। हमारा देश वर्तमान में अनेक समस्याओं से जूझ रहा है और अभी विकासशील देशों की श्रेणी में है। लेकिन वह समय दूर नहीं है जब हमारा भारत देश विज्ञान, तकनीक, औद्योगिक, आर्थिक और सामाजिक दृष्टि से विश्व का सिरमौर बनेगा। प्रत्येक भारतवासी का कर्तव्य है- The main objective of this website is to provide quality study material to all students (from 1st to 12th class of any board) irrespective of their background as our motto is “Education for Everyone”.It is also a very good platform for teachers who want to share their valuable knowledge.

SHOW COMMENTS

Comments Essay On Bharat Desh Mahan

  • Mera Bharat Mahan Essay in Hindi मेरा भारत महान पर.
    Reply

    Jun 29, 2018. Mera Bharat Mahan Essay in Hindi मेरा भारत महान पर निबंध For. To Thanks mam for this essay such a lovely essay.…

  • Hindi Essay on “Mera Bharat Mahan", ”मेरा भारत महान.
    Reply

    Hindi Essay on “Mera Bharat Mahan”, ”मेरा भारत महान” Complete Hindi Essay for Class 10, Class 12 and Graduation and other classes.…

  • Mera Bharat Mahan Essay.
    Reply

    Bharat desh mahan essay in marathi आइये देखें 2008, 2009, 2010, 2011, 2012, 2013, 2014.…

  • Mera Desh Bharat Essay.
    Reply

    Aug 1, 2019. Essay On My Country India in Hindi and मेरा भारत महान पर निबंध for class 3 4 5 6. #merabharatmahan #myindia #hindiessay. मेरा भारत महान पर निबंध Mera Desh Bharat Essay On My Country India in Hindi.…

  • मेरा भारत महान एस्से इन हिंदी मेरा भारत महान.
    Reply

    For Class 5/6 in 100 words. मेरा भारत देश एक बहुत महान देश है। इसे हिन्दुस्तान नाम से भी जाना जाता है। विश्व में.…

  • Bharat Desh Mahan. - YouTube
    Reply

    Jan 26, 2017. #MonicaGupta - मेरा भारत देश महान कविता - Mera Bharat Mahan Poem - मेरा देश भारत पर कविता - Monica Gupta भारत देश.…

  • Essays in Hindi
    Reply

    Essay on My Great Country India in Hindi! मेरा कृषि प्रधान भारत महान है । जहाँ पुरातन युग में यह.…

  • ESakal
    Reply

    Mera Bharat. 'मेरा भारत महान.' होय, मला आपल्या. Web Title Mera Bharat Mahan. टॅग्स. भारत · अत्याचार · अलिबाग · ओला.…

  • My Country Essay in Marathi, Maza Bharat Desh. - Marathi. TV
    Reply

    Maza Bharat Desh Nibandh in Marathi Language. Maza Bharat Mahan Essay माझा देश निबंध. भारत माझा देश आहे. सारे भारतीय माझे बांधव.…

The Latest from fitness-pskov.ru ©